Naag panchami 2018 fastival

नाग पंचमी 2018
Naag panchami 2018 fastival
Naag panchami 2018 fastival
हिंदू धर्म में नाग पंचमी का त्यौहार भी बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं हिंदू पंचांग के अनुसार नाग पंचमी का यह त्यौहार सावन के महीने में शुक्ल पक्ष के पंचमी वाले दिन को नाग पंचमी के रूप में यह त्यौहार मनाया जाता है इस दिन नाग देवता के रूप में सांपों की पूजा की जाती है

कैसे मनाते हैं नाग पंचमी का त्यौहार

नागपंचमी के दिन सुबह उठ कर नहा धोकर अपने घर के मेन दरवाजे पर दोनों तरफ नाग देवता की दो फोटो लगाकर फोटो पर टीका और दूध लावा लगाकर नाग देवता की पूजा की जाती है तथा महुआ के पेड़ की पत्तियों को या दिया में गाय का दूध और धान का लावा रखकर अपने घर के सभी कमरों के कोने में रख देते हैं और इसके अलावा किसान लोग अपने घरों के अलावा अपने खेतों में भी या क्रिया करते हैं और बहुत सी जगह नागपंचमी के त्यौहार के दिन भगवान शिव शंकर के मंदिर पर शिवलिंग को दूध द्वारा स्नान कराया जाता है |

नागपंचमी के दिन होता है कुश्ती का आयोजन

नागपंचमी यह दिन आने का गांव में कुश्ती तथा कबड्डी का प्रतियोगिता किया जाता है इस अवसर पर गांव वाले प्रेम व्यवहार के साथ इस प्रतियोगिता का आनंद लेते हैं और प्रतियोगिता के दौरान पुरस्कार भी घोषित किया जाता है त्यौहार के दौरान हुए प्रतियोगिता में आसपास की पहलवान भी इस खेल का आनंद लेते है तथा कुछ स्थानो पर  लोग अपने पशुओं बकरियों और भेड़ो को तालाब पोखर और नदियों में ले जाकर उनको अच्छे से नहलाते हैं और पंचमी के पर्व पर सभी लोगों के घर अच्छे अच्छे भोजन बनाए जाते हैं |

नागपंचमी के दिन शिव शंकर जी के मंदिर पर स्थानों पर मेला भी लगाया जाता है हमारा भारत एक कृषि प्रधान देश है नागपंचमी के दिन किसान लोग इस त्यौहार को बहुत लगन के साथ मनाते हैं क्योंकि उनका मानना है कि सांप हमारे खेतों की रक्षा करता है किसान लोग नाग देवता को क्षेत्रपाल बाबा की करते हैं किसानों के फसल को नुकसान पहुंचाने वाले जीव जंतु और चूहे द्वारा सांप हमारे खेतों की रक्षा करते हैं |

नागपंचमी के दिन नाग देवता का पूजा अवश्य करनी चाहिए नाग देवता के साथ-साथ नाग देवता की स्थान को भी पूजना चाहिए बुजुर्गों का मानना है कि पूरे सावन के महीने में खास करके नागपंचमी के दिन धरती को नहीं खोदना चाहिए धरती पर खुदाई से संबंधित कोई कार्य नहीं करना चाहिए क्योंकि इस दिन नागों की पूजा होती है और बहुत से नाग देवता धरती में भी अपना निवास करते हैं |

सांपों की एक पौराणिक कथा

बहुत पुरानी बात है एक गरीब किसान के एक बेटी और दो बेटे थे 1 दिन किसान अपने खेत में हल चला रहा था खेत की जुताई करते समय नागिन के तीन बच्चे दबकर मर चुके थे नागिन बच्चों के मरने पर बहुत दुखी हुई नागिन किसान से बदला लेने के लिए रात को किसान की पत्नी और दोनों बेटों को डस लिया और उसके बाद अगली रात को उसके बेटी को डसने गई तब किसान की बेटी ने नागिन को मीठा दूध पिलाकर अपने माता पिता के लिए माफी मांगी और तब नागमाता बहुत प्रसन्न हुई थी नागमाता प्रसन्न होकर सभी को माफ कर दिया और जीवनदान दे दिया |


Previous
Next Post »