The big impact of the strike on trucks is on business

ट्रकों की हड़ताल से बिज़नेस पर पड़ रहा है बहुत बड़ा प्रभाव
ट्रकों की हड़ताल से बिज़नेस पर पड़ रहा है बहुत बड़ा प्रभाव
ट्रकों की हड़ताल से बिज़नेस पर पड़ रहा है बहुत बड़ा प्रभाव

ट्रकों की चल रही हड़ताल की वजह से सभी बिजनेस पर बहुत बड़ा प्रभाव चल रहा है यहां हड़ताल लगभग 10 दिन से चल रहा है हड़ताल की वजह से माल डिलीवरी होने में बहुत बड़ी परेशानी हो रही है चल रहे हड़ताल की वजह से मार्केट में बहुत सी चीजों का दाम बढ़ गया है दाम बढ़ने का कारण यह है कि सामान की डिलीवरी नहीं हो पा रही है इसलिए मार्केट में लगातार दाम बढ़ते जा रहे हैं ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस द्वारा केंद्र और राज्य सरकार द्वारा डीजल पर लगने वाले टैक्स को हटाने के लिए यह हड़ताल शुरू की गई है यह हड़ताल कब तक चलेगी कुछ कहा नहीं जा सकता क्योंकि अभी सरकार द्वारा कोई कदम उठाया नहीं गया है |

कहीं-कहीं तो हड़ताल का असर इतना ज्यादा बढ़ गया है कि पर्याप्त मात्रा में माल नहीं मिल पा रहे है कुछ शहरों में डिलीवरी की व्यवस्था भी प्रभावित हुई है तथा हड़ताल की वजह से आवश्यक वस्तुओं के सिवाय कच्चे माल की भी कमी मार्केट में पड़ रही है सही समय पर यह व्यवस्था को ठीक नहीं किया गया तो बिज़नेसकरने वाले लोगों को बहुत घाटे का करना पड़सकता है तथा ट्रकों की चल रही हड़ताल के कारण समय पर माल न मिलने पर जितने भी आर्डर पड़े हुए हैंसभी माल रिजेक्ट होने की सम्भावना लगातार बढती जा रही है |


ट्रकों की हड़ताल से हुए टमाटर के भाव महंगे

पिछले 20 जुलाई 2018 से चल रहे ट्रक हड़ताल के कारण प्रदेश के सभी सब्जी मंडियों में टमाटर की कीमतों में बहुत तेजी से बढ़ोतरी हो रही है ट्रकों के इस हड़ताल के कारण टमाटर के भाव लगभग 20% महंगा हो चुका है राजधानी नई दिल्ली में जहां टमाटर ₹20 किलो बिक रहा है बिक रहा था चल रहे हड़ताल के कारण वहीँ टमाटर के भाव ₹50 प्रति किलो हो गए हैं दूध प्याज और आलू के दामों में ज्यादा असर नहीं पड़ा है लेकिन उम्मीद लगाया जा रहा है कि यदि ट्रकों का हड़ताल ऐसे ही चलता रहा तो भारी असर देखने को मिलेगा |



Previous
Next Post »