क्रिसमस डे

क्रिसमस डे को विश्व के अधिकतर देशों में मनाया जाता है बहुत से लोग क्रिसमस डे को बड़ा दिन के नाम से जानते हैं क्रिसमस डे एक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है यह त्यौहार प्रति वर्ष 25 दिसंबर को मनाया जाता है और बहुत से लोगों का यह भी मानना है की 25 दिसंबर से दिन बड़ा और रात छोटा होने लगता है क्रिसमस का समय आने से पहले ही खुशियां मनाना शुरू हो जाती हैं | 


क्रिसमस डे
क्रिसमस डे

क्रिसमस डे को दुनिया में सबसे ज्यादा लोग ईसाई धर्म के लोग मानते हैं ये लोग इस त्यौहार को बहुत ही मान-सम्मान से मानते हैं लेकिन आजकल देखा जाय तो बहुत से गैर ईसाई धर्म के लोग भी इस पर्व को मनोरंजन तथा मौजमस्ती के लिए मानते हैं  | 

क्रिसमस का पर्व आते ही गॉव तथा शहरों में क्रिसमस से सम्बंधित तरह-तरह के कपड़े और खिलौने देखने को मिलते हैं और यह त्यौहार आने से बहुत से दुकानदारों के लिए एक मिशाल बनकर आती है | 

क्रिसमस की कहानी

कहा जाता है की ईशा मसीह जो की ईश्वर के इकलौते पुत्र थे इन्होने जोसेफ और मैरी के घर दुनिया के कल्याण के लिए जन्म लिया था और इनका जन्म 25 दिसंबर को हुआ था इसी वजह से उस दिन से समस्त ईसाई धर्म प्रति वर्ष 25 दिसंबर को क्रिसमस डे के रूप में मनाते हैं और धीरे-धीरे यह त्यौहार पुरे दुनिया में मनाया जा  रहा है ईसाईयों के लिए यह त्यौहार दीवाली से कहीं ज्यादा महत्त्व होता है | 

क्या है क्रिसमस ट्री

जब ईसा मसीह का जन्म हुआ था तब उनके जन्म के ख़ुशी में जोसेफ और मैरी ने एक फर के पेड़ को सजवाया था और ईशा मसीह का जन्म होना चकित करने वाली बात थी इसलिए उस दिन से उस पेड़ को क्रिसमस ट्री के नाम से जाना जाता है | 





Previous
Next Post »