belwan badepur kharka

हमारे भारत देश के उत्तर प्रदेश राज्य के वाराणसी जिले में belwan badepur kharka नाम का गांव है जिसमें belwan (बेलवां), badepur (बड़ेपुर) और kharka (खरका) ये तीनों अलग-अलग गाँव है लेकिन यहाँ किसी को आना पड़ता है तो वह belwan (बेलवां) के नाम से  आता है।

belwan, badepur, kharka इन तीनों में belwan (बेलवां) एक गांव तो है ही लेकिन belwan (बेलवां) यहाँ का एक बहुत बड़ा मौजा है जिसमें कुल मिलकार 22 गांव आते हैं इन 22 गांव में से किसी भी जगह यदि कोई ब्यक्ति आता है तो सबसे पहले वह belwan (बेलवां) के नाम से आता है।

belwan badepur kharka
belwan badepur kharka

belwan (बेलवां) आने के  बाद वह जिस भी गांव में भी जाना चाहता है बड़ी आसानी सकता है कहा जाता है की वाराणसी में belwan (बेलवां) सबसे बड़ा मौजा वाला इकलौता गांव है इतना बड़ा मौजा वाला गांव अभी तक शायद ही इधर होगा।

belwan (बेलवां)


belwan (बेलवां) आने के लिए सबसे जाना-पहचाना स्थान belwan (बेलवां) गेट है जो की हर कोई बहुत आसानी से इस जगह को जानता है और अब की बात की जाय तो belwan (बेलवां) गेट के साथ-साथ एक और जाना-पहचाना स्थान प्रसिद्ध हो गया है जो की पेट्रोल पम्प के नाम से प्रसिद्ध है। 

यह दोनों स्थान एक ही जगह लगभग 200 मीटर की दुरी पर है और पेट्रोल पम्प के  बगल में सैयद बाबा का एक मजार है जो इधर के क्षेत्र में बहुत ही सन्नाम स्थान है यहाँ पर प्रत्येक सप्ताह के गुरूवार को दर्शन करने बहुत से लोग आते हैं। 

badepur (बड़ेपुर)

badepur (बड़ेपुर) इस गांव में किसान लोग अधिक रहते हैं यहाँ के किसान  अधिक सब्जियों की खेती करते हैं लेकिन सब्जियों की खेती अब बहुत कम की जाती है गर्मियों के मौसम में शादी का सीजन चलता है तो उस समय फूलों की मांग बहुत बढ़ जाती है। 

बाजार में फूलों की मांग इतनी बढ़ जाती है की कभी-कभी मिलना मुश्किल हो  और उस समय फूलों के रेट भी बहुत महंगे  इसलिए यहाँ के किसान अब सब्जियों की खेती काफी कम करने लगे हैं खेती को बढ़ावा दे रहे हैं। 


फूलों की खेती अब यहाँ पर लगभग पुरे वर्ष की जा रही है और बाजार में भी फूलों की मांग लगभग पुरे वर्ष होती रहती है। 

kharka (खरका)

badepur (बड़ेपुर) और kharka (खरका)  ये दोनों स्थान एक ही जगह हैं इन गोनो गावों के बिच में बस सड़क इस पार और उस पार का अंतर है और बाकी सब badepur (बड़ेपुर) के अनुसार यहाँ भी किसान है। 

badepur (बड़ेपुर) और kharka (खरका) दोनों मिलकर बहुत बड़ा गांव है इस गांव में दुर्गा पूजा का आयोजन किया जाता है जिसमें बहुत लोग आते हैं जिसमें पूजा करने के बाद दर्शकों के मनोरंजन के लिए नाटक भी किये जाते हैं। 

यदि आपको हमारा ये पोस्ट अच्छा लगे तो प्लीस इसे फेसबुक ,वाट्सअप तथा इंस्टग्राम पर  के साथ शेयर जरूर करना। 








Previous
Next Post »