Viral fever blood test report | Blood test report

Viral fever blood test report - यदि आप Viral fever blood test report की जानकारी चाहते हैं तो अच्छी बात है blood test report के जरिये आप यहां fever medicine की जानकारी ले सकते हैं।

Viral fever blood test report
Viral fever blood test report 


इसके साथ-साथ हम यहाँ पर आपको fever medicine की जानकारी भी साझा करेंगे तथा वायरल बुखार से सम्बंधित कुछ अच्छी और रोचक जानकारी भी देंगे।

Blood Test Report


वायरल बुखार के लिए मानव शरीर के Blood (खून) की जांच कराना बहुत ही जरुरी होता है क्योंकि देखा गया है की बहुत से लोग बुखार आने की स्थिति में बिना blood test report कराएं ही दवा खाना शुरू कर देते हैं और कुछ दिन बिताने के बाद जब बुखार ठीक नहीं होता है तो blood test में तरह-तरह के रोग मिलते हैं। 

जब कोई रोगी ज्यादा दिनों तक बुखार से ग्रस्त होता है तो उसकी खून की जांच करने के लिए पूरी तरह से उसका परीक्षण किया जाता है वायरल बुखार और डेंगू  दोनों का इलाज लगभग एक सामान ही होता है लेकिन इन दोनों की देखभाल करना बहुत ही जरुरी होता है। 

किसी भी रोगी का blood test इसलिए किया जाता है की उस रोगी को मलेरिया हुआ है या टायफाइड खून की जाँच करने से रोगी का इलाज अच्छी तरह से होता है तथा मलेरिया,टायफाइड के साथ-साथ blood test करने से और भी रोगों का पता चल जाता है। 


खून की जांच करने की एक प्रयोगशाला परीक्षा होती है जिसमें रोगी के अन्य अंगों की जांच जैसे थायरॉयड , हृदय ,यकृत और गुर्दे की जाँच अच्छी तरह से की जाती है रोगियों के इलाज करने के लिए ज्यादातर डाक्टर blood test करवाते हैं इससे विभिन्न प्रकार के घटक सामने आते हैं।

What is Viral Fever


वायरल बुखार की बात की जाय तो यह शरीर के तापमान को बढ़ाने और वायरल संक्रमण से सम्बंधित रोग होता है चिकित्सकों की बात की जाय तो वायरल संक्रमण से ग्रसित कोई भी रोगी जो बिखर से ग्रसित है उसे वायरल बुखार कहते हैं।


Viral fever
Viral fever

जिस भी ब्यक्ति को वायरल संक्रमण की शिकायत होती है उन्हें ये सब लक्षण उत्पन्न होते है जैसे-त्वचा लाल होना,शरीर में तेज दर्द होना,तेज कंपकंपी होना,नाक का बहना,हमेशा खांसी आना जैसे और भी लक्षण दिखाई देते हैं।

Viral fever किसी को भी किसी भी अवस्था में हो सकता है और यह बहुत तरह से प्रभावित करता है कुछ वायरल बुखार सिमित समय तक ठीक से इलाज करने से ठीक हो जाते हैं लेकिन कुछ वायरल बुखारभयानक भी होते हैं जो रोगी को मृत्यु की और लेकर चले जाते हैं।


Viral Fever Treatment


वायरल बुखार के इलाज के लिए रोगियों को जो दवाएं दी जाती है वे सब दवाएं शरीर के दर्द को काम करने के लिए दी जाती है और वह भी काम तापमान पर रोगियों को बेड रेस्ट और तरल पदार्थों के सेवन से परहेज की सलाह दी जाती है ज्यादातर Viral fever लगभग एक सप्ताह में पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं।

वायरल बुखार वाले रोगियों में बुखार ठीक होने के बाद भी कुछ दिनों तक रोगी का शरीर सुस्त और थकन की चपेट में रहता है कभी-कभी ऐसे रोगो के नाक से खून बहना फायदेमंद हो सकता है।


















Previous
Next Post »